Home » मायापुरी डायमंडस » श्याम शर्मा » इंटरव्यू » INTERVIEW: ‘‘यूथ में हिट होगा मोबाइलर’’ – अमन त्रिखा

INTERVIEW: ‘‘यूथ में हिट होगा मोबाइलर’’ – अमन त्रिखा

इंटरव्यूफ़िल्मी इंटरव्यूश्याम शर्मा

रियेलिटी शोज़ ने बॉलीवुड को कई अच्छे गायक दिये हैं, पर उनमें बहुत कम ऐसे हैं, जिन्होंने अपने सिंगिंग टैलेंट के दम पर म्यूज़िक इंडस्ट्री पर अपना जलवा लंबे समय तक कायम रखा हो। अमन त्रिखा ने भी रियेलिटी शोज़ में भाग लिया। उनके नाम सुरक्षेत्र दर्ज है जहां अमन हिमेश रेशमिया टीम के सदस्य थे। हिमेश के साथ ऐसा साथ जुड़ा, जो अब तक कायम है। इस बीच अमन ने संगीत की दुनिया में अपनी पहचान कायम करने में सुलता प्राप्त की। कई फिल्मों में उन्होंने श्रोताओं को अपनी यूनिक आवाज़ से प्रभावित किया है। प्रेम रतन धन पायो, खिलाड़ी 786, शौकीन, ओएमजी, शॉर्टकट रोमियो, 21 तोपों की सलामी, सन ऑफ सरदार आदि करीब पचास फिल्में हैं जिनमें अमन ने गीत गाये। पिछले दिनों गायिका रितु पाठक के साथ उनकी जुगलबंदी में एक सिंगल गीत ‘मोबाइलर’लॉन्च हुआ, जो एक डांस नंबर है, रवि भाटिया द्धारा निर्देशित इस गीत को मह तीन दिन में एक लाख वीवर्स, सात सो पचास लाइक्स तथा एक सो चार कमेंट्स मिल चुके हैं। प्रस्तुत है अमन से एक बातचीत

मैं तेरा लवर मोबाइलर गीत में क्या खास है?

ये आज की यूथ जेनरेशन का गीत है, जिन्हें मोबाइल पर दिन-रात चैट करने की आदत है। वे मोबाइल पर ही रोमानी बातें करते हैं। ये मोबाइल आजकल प्रेमी जोड़ों के बीच किस तरह पुल का कार्य कर रहा है, उसी को फोकस किया गया है। इस गीत को हमने डांस नंबर का रूप दिया है और आज यही गीत मोबाइलर नाम से श्रोताओं के बीच है।aaman trikha 3

ये सिंगल किस तरह मिला ?

डायरेक्टर रवि भाटिया के साथ इससे पहले भी मैं कई गीत गा चुका हूं। जब उन्होंने मुझे इस गाते के लिये बुलाया और मैने गीत के बोल सुने तो बड़ा अटपटा सा लगा क्योंकि गीत में विस्तृत रूप से मोबाइल का वर्णन था कि किस प्रकार वो आज हर किसी की जरूरत बन चुका है। मोबाइल पर आज चैटिंग के तहत प्यार मोहब्बत तक हो रही है। खैर गीत के लेख्का और कंपोजर यागेन्द्र नागदा के साथ शुरू किया जो बाद में अपने आप बनता चला गया । रिजल्ट देख लीजीये सिर्फ तीन दिन में इसके एक लाख वीवर्स, सात सो पचास लाइक्स तथा एक सोचार कमेन्ट्स मिल चुके हैं।

क्या रितु पाठक के साथ पहले भी किसी गीत में जुगलबंदी की है?

रितु को मैं काफी पहले से जानता हूं। वो मेरी अच्छी दोस्त है लेकिन उसके साथ किसी फिल्म में गीत नहीं गाया था। अब मोबाइलर में मौका मिला, तो हम एक साथ श्रोताओं के बीच आ गए।

आप आउटसाइडर है। यहां स्थापित होने मे कितनीं मुश्किलें पेश आई?

 मैं मानता हूं कि यहां बाहरी व्यक्ति को संघर्ष करना पड़ता है लेकिन इरादे अगर मज़बूत हों, तो कुदरत रास्ते क्लीयर करती चली जाती है। शुरू शुरू में मुझे भी काफी संघर्ष करना पड़ा। कई संगीतकारों से मिला जिनमें शंकर अहसान लॉय भी थे। उन्हें मेरी आवाज़ अच्छी लगी और आश्वासन दिया कि किसी फिल्म में मौका देंगे, पर वो दिन अभी तक नहीं आया।

फिल्मों में संगीत के सफर की शुरूआत कैसे हुई?

चूंकि हिमेश जी से शुरू से ही जुड़ा था और उन्होंने ही मुझे आगे बढ़ाया। फिल्में दी, शोज़ में मुझे अपने साथ ले जाते रहे और ये साथ आज भी चला आ रहा है।aman-trikha

इन दिनों शोज़ की क्या स्थिति है ?

 नोटबंदी ने काफी असर डाला है। अब आयोजक शोज़ कराने से बचते हैं। सीज़न के हिसाब से शोज़ होते हें। कभी महीने में करीब दस शोज़ हो जाते थे पर इन दिनों मुश्किल से तीन-चार मिल पा रहे हैं।

अब तक का सबसे बड़ा क्रेडिट या कॉम्पिलमेंट ?

सलमान खान से मिली तारीफ। उननकी फिल्म प्रेम रतन धन पायो के लिए मुझे दो गीत गाने को मिले। दरअसल, सलमान को मेरी आवाज़ पसंद आ गई थी, जो उन्हें सूट कर रही थी। मेरा गीत प्रेम लीला उन्हें काफी पसंद आया इसलिये उन्होंने उसी फिल्म का दूसरा गीत भी मुझे ही गाने को दिया।

आपके खुद के गाए लोकप्रिय गीत ?

गो गो गोविंदा मेरे लिए सबसे यादगार गीत है, जो आज भी बजता है। इसी तरह प्रेमलीला भी मेरी लाइफ का सबसे बड़ा गीत है। ढिशुम का एक गीत भी काफी हिट हुआ। पिछले दिनों आयोजित हुए फिल्मफेयर के इवेंट में शाहरूख ने अपनी परफॉरमेंस मेरी आवाज़ में ही दी थी।

क्या किसी बात को लेकर अफसोस है ?

 एक कलाकार को उस समय सबसे ज्यादाअुसोस होता है जब उसकी कोई चीज़ लोगों तक पहुंच नहीं पाती। मेरे कई गीत ऐसे हैं, जो लॉन्च नहीं हो पाये। मेरी नज़र में वे अच्छे गीत थे जो श्रोताओं तक नहीं पहुंच पाये। मेरे सैंकड़ों गीतों का अब तक कुछ अता-पता नहीं हैं।aaman trkha 2

सफलता को लेकर क्या कहेंगे?

मैं तो यही कहूंगा कि सफलता आसानी से नहीं मिलती। अगर मिलती है तो उसे कायम रखना भी जरूरी है। मुझे सफलता हासिल करने में काफी मुश्किलें आईं और अब कायम रखने के लिए संघर्ष कर रहा हूं।

सुना है आप स्वच्छता अभियान से भी जुड़े थे ?

सही कहा आपने । दरअसल 2014 में पियूष पांडे जी ने स्वच्छता अभियान से जुड़ा गीत तैयार किया था, जो मोदी जी के लिए खासतौर पर तैयार किया गया था। अच्छे दिन आने वाले हैं, हम मोदी जी को लाने वाले हैं गीत को मैंने ही गाया।